About

खोडेश्वर रेन सेल्टर स्वय सहायता समूह

खोडेश्वर रेन सेल्टर का स्वयं सहायता समूह के रूप में 20 अपे्रल 2014 को युवा सदस्यो को मिलाकर इसका गठन किया गया है। यह समूह सुन्धा माता कन्जरवेशन रिर्जव वन क्षेत्र जसवंतपुरा में स्थित हैं। यह समूह इंको टुरिज्म की गतिविधियों का संचालन करता हैं। वन्य जीव प्रेमी समुन्द्र सिंह, जाविया खोडेश्वर रेनसेल्ट स्वयं सहायता समूह के अध्यक्ष रूप में कार्यरत है।

रेन सेल्टर स्वय सहायता समूह खोडेश्वर ग्राम्य वन सुरक्षा एव प्रबन्ध समिति जाविया के अधीन बनी है   जो उप परियोजना अधिकारी जसवंतपुरा जालोर कार्यशील है|

स्वय सहायता समूह के गठन का उदेस्य;- समूह सुंधामाता कन्ज़्रवेशन रिजर्व के केंद्र खोडेश्वर जसवंतपुरा के सघन वन क्षेत्र के मध्य वन मे आया हुआ है यहा पर पुराना एतीहासिक महादेव का मंदिर , माह बहने वाला झरना एव समुन्द्रतल से करीब 3300 फिट उचाई पर पहाड़ी पर बना 200 वर्ष पुराना किला है, इसी क्षेत्र मे वन्य जीवो की बाहुताए है जिसमे विशेषता से भालू पाये जाते है|

उक्त स्थानो पर भ्रमण करने के लिए प्रति वर्ष लाखो पर्यटक एव श्रद्धालु आते है  इन के लिए वन विभाग के इकोटुरिजियम, आरएफबीपी- मद से उपलब्ध राशि से सेल्टर रूम रसोईघर, वॉचटावर, पार्किंग, केंटीन आदि भवन बनवाये है  जिसमे पर्यटक रात्री विश्राम कर सकते है एव नास्ता, भोजन, पानी, बेकरी सामान खरीद कर सकते है ।उक्त स्थानो के रखरखाव एव पर्यटक की सुविधा ऊपलब्ध कराने हेतु इस स्वय सहायता समूह का गठन किया गया है ।

समूह द्वारा किये जा रहे कार्य

वन्य क्षैत्र के विकास व वन्य जीव के संरक्षण हेतु प्रसार-प्रचार कर जाग्रति लाना एवं वन संरक्षण हेतु कार्य करना।
केन्टिन:- खोडेश्वर वन क्षेत्र में केन्टिन का संचालन किया जा रहा हैं।
रेन सेल्टरः- इस क्षेत्र में वन विभाग द्वारा निर्मित रात्रि विश्राम हेतु कक्ष का रख-रखाव एवं संचालन किया जा रहा है।
पार्किग व्यवस्थाः- इस क्षेत्र में आने वाले पर्यटको के लिए सुनिश्चित एवं व्यवस्थित पार्किंग व्यवस्था उपलब्ध करवाना।
स्थानीय वन्य उत्पादो को एवं पर्यावरण को बिना नुकशान पहुॅचाएँ रोजगार के अवसर पैदा करना।
इस क्षेत्र में पाई जाने वाली अमुल्य वन ओषधियों की जानकारी व उत्पाद का प्रचार-प्रसार करना
इस क्षेत्र में सलोध बियर सफारी व केम्प फायर का संचालय करना। उपरोक्त कार्य का संचालन करते हुए समूह द्वारा आय अर्जित करेगा।